कैसे करें लाइफ बैलेंस, अगर दोनों हैं वर्किंग

आजकल अधिकतर शादीशुदा जोड़े वर्किंग हैं. लड़के भी अब कामकाजी लड़कियों को तरजीह देने लगे हैं जिसके चलते अब कपल्स भी कामकाजी हो गये हैं.

वैसे कई यूनिवर्सिटिज़ ने शोध करके पाया है कि यदि पति-पत्नी दोनों कामकाजी हों तो उनका जीवन खुशहाल रहता है. इसका प्रमुख कारण है कि दोनों व्यस्त रहते हैं और अधिक समय तक दूर रहने के कारण एक-दूसरे की अहमियत समझते हैं.

नौकरीशुदा होना आज इसलिए भी जरुरी है क्योंकि महंगाई के दौर में अकेले घर चलाना वैसे ही मुश्किल हो जायेगा. लेकिन इसका दूसरा पहलू भी है जिसे नकारा नहीं जा सकता. पति-पत्नी दोनों के ही कामकाजी होने के कारण कई तरह की समस्याएं भी आने लगती हैं. घर के कामों से लेकर रोजमर्रा की जिम्मेदारियों तक सभी तरह के विवाद जन्म लेने लगते हैं.

पति-पत्नी के जीवन में नोक-झोंक आम बात है लेकिन प्रेम की भी अपनी अहमियत होती है. वर्किंग होने की स्थिति में कैसे जीवन में संतुलन बनाया जा सकता है, इसके लिए हम आपको कुछ टिप्स बता रहे हैं:

आपसी सहयोग
यदि पति-पत्नी दोनों जॉब कर रहे हैं और बच्चा भी स्कूल जाता है तो जिम्मेदारियों के बंटवारे को लेकर विवाद होना आम बात है. यदि समझदारी से निर्णय लिया जाए तो इससे बचा जा सकता है. अगर पत्नी जल्दी ऑफिस जाती है तो पति को बच्चे को स्कूल भेजने की जिम्मेदारी लेनी चाहिए.

कार्य विभाजन
एक-दूसरे पर काम थोपने की बजाए जो जिस काम को आसानी से कर सकता है, उसे वह कर लेना चाहिए. उदाहरण के लिए यदि ब्रेकफास्ट बनाना पति को अच्छा लगे तो वह बना सकता है. इसी तरह यदि पत्नी का इंटरेस्ट बाहर की खरीददारी करने में है तो उसे वह कर लेना चाहिए जिससे समय की बचत होगी.

ईगो को कहें नो
हालात चाहे जो भी हों, आप एक दूसरे को सम्मान भावना से ही देखें. अपने व्यव्हार से केवल एक-दूसरे को ही नहीं बल्कि परिवार के दूसरे लोगों को भी ठेस नहीं पहुंचाएं. यदि आप झगड़ भी पड़े हों तो भी एक-दूसरे के लिए रोजाना की जिम्मेदारियों को न तोड़ें. मसलन, यदि आप पत्नी के लिए बिस्तर लगाते हैं तो ऐसा हर हाल में करें, यदि पत्नी पति को बेड टी बना कर देती है तो झगड़ा होने पर भी बनाती रहें. झगड़ा अपनी जगह, वैल्यू अपनी जगह.

घर पर ऑफिस नहीं
कोशिश यही रहे कि ऑफिस का काम ऑफिस में ही खत्म कर के आंएगे. एक दूसरे को पर्याप्त समय देने के लिए घर में गपशप करें, ऑफिस के एक्सपीरियंस एक-दूसरे से शेयर करें. अगर दोनों में से कोई किसी वजह से परेशान है तो तुरंत सहायता करें.

पिकनिक मनाएं
कभी-कभी घूमने का भी प्लान बनाया जा सकता है. अपनी व्यस्त जिंदगी में कभी मूवी देखने, मॉल में खरीददारी करने, रेस्टोरेंट में डिनर करने आदि का प्लान बनाया जा सकता है. इसके अलावा यदि समय और बजट अनुमति दे तो साल में एक बार आउटस्टेशन ट्रेवल भी करें. इससे रिश्ते में मजबूती आती है और खुद भी फ्रेश फील करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *